chhattisgarhnews24

Follow Us:

Ram Navami Violence:मालवानी इलाके में हुई हिंसा थी पूर्व नियोजित, मुंबई पुलिस ने एफआईआर में बढ़ाई धाराएं

Police found that stone pelting incident of Violence during Ram Navami procession in Mumbai was preplanned

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार

रामनवमी के मौके पर मुंबई के मलाड इलाके में उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया था। यहां दो पक्षों में पथराव के बाद हिंसा भड़क गई थी। जिसके बाद आरोपियों के खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। अब इस हिंसा को लेकर मालवानी पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। मुंबई पुलिस ने बताया है कि जांच के दौरान मालवानी पुलिस ने पाया कि रामनवमी में जुलूस पर पथराव की योजना पहले से ही बनाई गई थी। उपनगर मलाड में रामनवमी के जुलूस पर पथराव के मामले में आरोपियों ने कथित तौर पर एक मस्जिद के पास बैठकर हिंसा की साजिश रची थी। 

एक अधिकारी ने बताया कि हिंसा के मामले की जांच कर रही मालवानी पुलिस की एक टीम ने दो अप्रैल को मालवणी पुलिस थाने के एक आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) के अधिकारी और एक अन्य पुलिसकर्मी के बयान दर्ज किए। उन्होंने कहा कि दोनों पुलिस कर्मियों ने अपने बयानों में पुलिस को बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी और वांछित लोगों द्वारा हिंसा की गई थी। इस मामले में जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें से एक ने अपने साथी के साथ मिलकर ये योजना बनाई थी। उसका साथी फरार है। जांच में यह भी पाया गया है कि दोनों ने दंगों के इरादे से मस्जिद के पास सवेरा हाइट बिल्डिंग के पास भीड़ जमा की थी। 

एफआईआर में बढ़ाई गई धाराएं

इस दौरान मुंबई पुलिस ने यह भी बताया कि इस खुलासे के बाद हिंसा की घटना के संबंध में दर्ज की गई मूल एफआईआर में धारा 120 (बी) को बढ़ाया गया है। साथ ही एफआईआर में आपराधिक साजिश के आरोपों को जोड़ने के बारे में अदालत को भी सूचित किया गया है। 



Source link

Spread the love

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज